Tuesday, December 02, 2008

अनकथ तेरी शहादत को, किस पैमाने पर तोल लिखूँ?

दो बोल लिखूँ!
शब्दकोष खाली मेरे, क्या कुछ मैं अनमोल लिखूँ!

आक्रोश उतारुँ पन्नों पर,
या रोष उतारूँ पन्नों पर,
उनकी मदहोशी को परखूँ,
तेरा जोश उतारूँ पन्नों पर?

इस कर्मठता को अक्षर दूँ,
निस्सीम पर सीमा जड़ दूँ?
तू जिंदादिल जिंदा हममें,
तुझको क्या तुझसे बढकर दूँ?
अनकथ तेरी शहादत को, किस पैमाने पर तोल लिखूँ?

मैं मुंबई का दर्द लिखूँ,
सौ-सौ आँखें सर्द लिखूँ,
दहशत की चहारदिवारी में
बदन सुकूँ का ज़र्द लिखूँ?

मैं आतंक की मिसाल लिखूँ,
आशा की मंद मशाल लिखूँ,
सत्ता-विपक्ष-मध्य उलझे,
इस देश के नौनिहाल लिखूँ?
या "राज"नेताओं के आँसू का, कच्चा-चिट्ठा खोल लिखूँ?

फिर "मुंबई मेरी जान" कहूँ,
सब भूल, वही गुणगान कहूँ,
डालूँ कायरता के चिथड़े,
निज संयम को महान कहूँ?

सच लिखूँ तो यही बात लिखूँ,
संघर्ष भरे हालात लिखूँ,
हर आमजन में जोश दिखे,
जियालों-से जज़्बात लिखूँ।
शत-कोटि हाथ मिले जो, तो कदमों में भूगोल लिखूँ!
हैं शब्दकोष खाली मेरे, क्या कुछ मैं अनमोल लिखूँ?

-विश्व दीपकतन्हा

7 comments:

राजीव रंजन प्रसाद said...

बहुत सुन्दरता से आपने अपना दर्द बयां किया है।

सच लिखूँ तो यही बात लिखूँ,
संघर्ष भरे हालात लिखूँ,
हर आमजन में जोश दिखे,
जियालों-से जज़्बात लिखूँ।
शत-कोटि हाथ मिले जो, तो कदमों में भूगोल लिखूँ!
हैं शब्दकोष खाली मेरे, क्या कुछ मैं अनमोल लिखूँ?

बेहतरीन कविता।


***राजीव रंजन प्रसाद

आलोक शंकर said...

http://www.orkut.co.in/Main#FullProfile.aspx?uid=5185304287748406909

vipul said...

तन्हा जी .. मुंबई मे जो भी हुआ इस पर बहुत कुछ लिखा गया लेकिन आपकी कविता में गुस्से से बचते हुए आपने एक दम सटीक प्रस्तुति दी है |
शिल्प का जवाब नहीं और भाव उभरकर आ रहे हैं सामने...
बेहतर कविता का शानदार प्रस्तुतिकरण !

RC said...

शत-कोटि हाथ मिले जो, तो कदमों में भूगोल लिखूँ!
हैं शब्दकोष खाली मेरे, क्या कुछ मैं अनमोल लिखूँ?

Bade dinon baad aapki rachana padhne ko mili.

Rachana achchi hai per Khushi to kuchh hai nahin .. Mumbai attacks ke baad ...

RC

श्रद्धा जैन said...

mumbai main jo kuch hua use waqayi logon ki aankhen sard ho gayi houngi
shayad kuch der tak to kuch ehsaas hi na bache ho

aapne ek ek shabad main bahut ghari baat likhihai

Anonymous said...

Mumbai Terrorist attack se pahle bhi Mumbai mein kuch hua tha jo desh ko todne ke liya kaafi tha aur ye nakabile maafi tha.

Kuch uske bare mein bhi likh dete... bye and take care

sa said...

AV,無碼,a片免費看,自拍貼圖,伊莉,微風論壇,成人聊天室,成人電影,成人文學,成人貼圖區,成人網站,一葉情貼圖片區,色情漫畫,言情小說,情色論壇,臺灣情色網,色情影片,色情,成人影城,080視訊聊天室,a片,A漫,h漫,麗的色遊戲,同志色教館,AV女優,SEX,咆哮小老鼠,85cc免費影片,正妹牆,ut聊天室,豆豆聊天室,聊天室,情色小說,aio,成人,微風成人,做愛,成人貼圖,18成人,嘟嘟成人網,aio交友愛情館,情色文學,色情小說,色情網站,情色,A片下載,嘟嘟情人色網,成人影片,成人圖片,成人文章,成人小說,成人漫畫,視訊聊天室,a片,AV女優,聊天室,情色,性愛